June 20, 2024 5:43 am

देश हित मे......

जस्‍ट‍िन ट्रूडो सरकार ने खाल‍िस्‍तानी आतंक‍ियों के सामने टेके घुटने! रोक के बाद भी गुरुद्वारे में हुआ रेफरेंडम

नई द‍िल्‍ली. खालिस्तानी आतंकवादी हरदीप सिंह निज्जर (Hardeep Singh Nijjar) की हत्या को लेकर भारत और कनाडा के बीच र‍िश्‍तों में तल्‍खी आ गई है. कनाडा के आरोपों के जवाब में भारत ने भी अपना कड़ा रुख अख्‍त‍ियार क‍िया हुआ है. भारत लगातार इस बात को दोहराता आ रहा है क‍ि कनाडा की धरती पर खाल‍िस्‍तानी आतंकवादी (Khalistani Terrorists) पनप रहे हैं. कनाडा सरकार और प्रशासन के आदेशों और कानून को अब खाल‍िस्‍तानी ठेंगा द‍िखाने में भी पीछे नजर नहीं आ रहे हैं. कनाडा प्रशासन की रोक के बावजूद खालिस्तानी आतंकवादियों ने गुरुद्वारे में खालिस्तान रेफरेंडम (Khalistan Referendum) क‍िया. लेक‍िन यह बुरी तरह फेल हुआ है और इसमें स‍िर्फ आतंकवादी या उनसे जुड़े परिवारों के लोग ही एकत्र हुए.

इस बीच देखा जाए तो खालिस्तान को लेकर कनाडा की जमीन पर खालिस्‍तानी आंतक‍ियों द्वारा क‍िये जाने वाले रेफरेंडम पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कड़ा रुख अख्‍त‍ियार क‍िया था. इसके बाद कनाडा सरकार ने इसको लेकर सख्‍ती बरती और रेफरेंडम की अनुमति को कैंसिल कर द‍िया. बावजूद इसके खाल‍िस्‍तानी आतंक‍ियों ने रोक लगाये जाने के बाद भी गुरुद्वारे में रेफरेंडम कराया. लेक‍िन भारत के कड़े रुख के बाद इसकी पूरी तरह से हवा न‍िकल गई है. इस रेफरेंडम में स‍िर्फ आतंक‍ियों के ही कुछ चुन‍िंदा लोगों व परिवारों के सदस्‍यों ने श‍िरकत की.

ये भी पढ़ें- ट्रूडो के आरोपों पर कनाडा में ही खूब उठ रहे सवाल, निज्जर मर्डर केस में ब्रिटिश कोलंबिया के प्रमुख ने समझाया कानून

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खालिस्तान को लेकर कड़ा रुख दिखने के बाद खालिस्तानी आतंकवादियों ने अपना जनमत दिखाने के लिए कनाडा में 10 सितंबर को एक रेफ्रेंडम कराए जाने की घोषणा की थी. खालिस्तानी आतंकवादियों का यह गुट कनाडा में 10 सितंबर को खालिस्तानी रेफरेंडम का आयोजन एक स्कूल में करना चाहता था. इस आयोजन के लिए खालिस्तानी आतंकवादियों द्वारा कनाडा के सूरे शहर के तमानवीश सेकेंडरी स्कूल में एके-47 राइफल के साथ फोटो आदि भी लगाए गए थे जिसे लेकर कनाडा के इस स्कूल ने गहरी नाराजगी व्यक्ति की और कहा क‍ि इसका असर उनके स्कूल के बच्चों पर पड़ेगा. लिहाजा वे अपने स्कूल में इस रेफरेंडम को कराई जाने की अनुमति नहीं दे सकते. स्कूल के कड़े रुख को देखते हुए कनाडा प्रशासन ने रेफरेंडम कराई जाने की अनुमति कैंसिल कर दी.

कनाडा प्रशासन द्वारा अनुमति कैंसिल किए जाने के बावजूद वहां के तमाम नियम कानून को ताक पर रखते हुए खालिस्तानी आतंकवादियों ने खालिस्तान के समर्थन पर वोटिंग 11 सितंबर 2023 को ब्रिटिश कोलंबियन प्रांत सरे में गुरु नानक गुरुद्वारे में आयोजित की, जहां जून में इसके पूर्व अध्यक्ष और खालिस्तानी आतंकवादी हरदीप सिंह निज्जर की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी.

आतंकवादियों द्वारा कराए गए इस रेफरेंडम का वीडियो अब सामने आया है जिसमें साफ तौर पर दिखाई दे रहा है कि सिख फॉर जस्टिस के सरगना गुरपतवंत सिंह पन्नू द्वारा कराए गए इस रेफरेंडम में मात्र कुछ लोग ही आए थे. जो लोग आए थे, वह भी आतंकवादियों से जुड़े हुए परिवार या फिर स्वयं आतंकवादी थे. वीडियो में स्पष्ट तौर पर देखा जा सकता है कि एयर इंडिया कनिष्क बम विस्फोट के मुख्य आरोपी तलविंदर परमार की मां को आतंकवादी अजब सिंह बागरी लेकर आया है जो स्वयं इस बम धमाके का एक आरोपी है.

साथ ही वीडियो में साफ तौर पर दिखाई दे रहा है कि आतंकवादी गुरुपंत सिंह पन्नू भी अपने कुछ आदमियों के साथ वहां मौजूद है. इसके अलावा वहां मात्र एक कैमरा है और दिखाने के लिए वीडियोग्राफी कराई जा रही है जिससे बाद में बताया जा सके कि लाखों लोगों ने इस रेफ्रेंडम में भाग लिया. वीडियो में यह भी साफ तौर पर दिखाई दे रहा है कि खालिस्तान के समर्थन में नारे जबरन लगवाए जा रहे हैं. यहां तक की तलविंदर परमार की मां की पीठ पर अजब सिंह बागड़ी ने हाथ रखा है जिससे वह लगातार नारे लगाती रहे.

दिलचस्प बात यह है कि एक तरफ तो पन्नू खुलेआम वीडियो जारी कर कनाडा में रहने वाले हिंदुओं को कनाडा छोड़ने की धमकी दे रहा है. वहीं दूसरी तरफ कनाडा प्रशासन इन आतंकवादियों पर कोई रोक लगाना तो दूर उनके सामने नतमस्तक नजर आ रहा है. खालिस्तानी आतंकवादियों द्वारा यह रेफरेंडम करा कर एक तरह से कनाडा प्रशासन को चुनौती दी गई कि यदि वे अपने स्कूल या अपनी जगह पर उनका रेफरेंडम नहीं कराएंगे तो वह अपने गुरुद्वारों में अपने रेफरेंडम करेंगे. यानी पूरी तरह से यह कनाडा प्रशासन को खुली चुनौती दी गई थी. खालिस्तानी आतंकवादियों को यह अच्छी तरह से पता चल चुका है कि कनाडा प्रशासन इन गुरुद्वारों में किसी तरह का कोई हस्तक्षेप नहीं कर सकता और यदि वह हस्तक्षेप करेगा तो उसकी सरकार गिर जाएगी. ऐसे में वह कनाडा प्रशासन की जमकर धज्जियां उड़ा रहे हैं.

Tags: Canada, India, Justin Trudeau, Khalistani, Khalistani terrorist

Source link

traffictail
Author: traffictail

Facebook
Twitter
WhatsApp
Reddit
Telegram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

बरेली। पोल पर काम करते संविदा कर्मचारी को लगा करंट, लाइनमैन शेर सिंह की मौके पर ही मौत, घंटो पोल पर लटका रहा शव, परिजनों ने लगाया विभाग पर लापरवाही का आरोप, बिथरी चैनपुर थाना क्षेत्र के एफसीआई गोदाम के पास की घटना, पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भेजा,

सहारा ग्रुप के सहारा प्रमुख सुब्रत रॉय सहारा श्री का मुंबई मे मंगलवार देर रात निधन, लंबे समय से बीमार चल रहे थे सहारा श्री, उनका इलाज मुंबई के एक निजी अस्पताल मे चल रहा था। बुधवार को उनका पार्थिव शरीर लखनऊ के सहारा शहर लाया जायेगा,जहा उन्हे अंतिम श्रद्धांजलि दी जाएगी।

बरेली । आबादी में चला रहे पटाखा व्यापारियों पर प्रशासन का शिकंजा, डीएम रविंद्र कुमार ने प्रतीक शर्मा की शर्मा ट्रेडर्स, रेशमा की मिलन ट्रेडर्स, मुकेश सिंघल की सिंघल फायर ट्रेडर्स, अंकुश पावा की हरदेव ट्रेडर्स और पूर्व विधायक केसर सिंह के बेटे विशाल ट्रेडर्स के थोक के लाइसेंस सस्पेंड कर दिए गए हैं। इज्जत नगर थाना क्षेत्र के 100 फुटा रोड पर थी पटाखा दुकान, पटाखा व्यापारियों में मची खलबली,

Weather Forecast

DELHI WEATHER

पंचांग