July 13, 2024 10:18 am

देश हित मे......

‘डंडे से पीछे मारना टॉर्चर नहीं…’ मुस्लिम युवकों को बांधकर पीटने वाले पुलिसवालों ने गुजरात हाईकोर्ट में दी दलील, मुआवजा देने का प्रस्ताव रखा

गुजरात: गुजरात हाईकोर्ट (Gujarat High Court) को दिए एक हलफनामे में 4 पुलिसकर्मियों ने बुधवार को दलील दी कि ‘लोगों को पीछे डंडे से मारना टॉर्चर नहीं माना जाना चाहिए.’ इन पुलिसकर्मियों के खिलाफ खेड़ा जिले में पिछले साल मुस्लिम पुरुषों को बेरहमी से पीटने का केस दर्ज किया गया था. हालांकि अब उन्होंने पीठ को कहा कि अगर वे दोषी पाए जाते हैं तो उन्हें सजा न दी जाए बल्कि पीड़ितों के लिए मुआवजा देने को कहा जाए.

लाइव लॉ की रिपोर्ट के अनुसार जस्टिस एएस सुपेहिया और जस्टिस गीता गोपी की बेंच के सामने पुलिसकर्मियों के वकील प्रकाश जानी ने यह दलील दी कि इन सभी ने 10-15 साल तक सेवा की है और अब अगर उन्हें दोषी करार देते हुए सजा दी जाती है तो उनके काम के रिकॉर्ड पर बुरा असर पड़ेगा. वकील प्रकाश जानी की दलील पर विचार करते हुए कोर्ट ने सोमवार तक के लिए सुनवाई स्थगित कर दी है. पीठ ने इस मामले पर शिकायतकर्ता मुस्लिम पुरुषों से जवाब मांगा है.

कौन-कौन है आरोपी
इस मामले के आरोपियों में गुजरात पुलिस के अधिकारी एवी परमार (इंस्पेक्टर), डीबी कुमावत (सब-इंस्पेक्टर), केएल डाभी (हेड कांस्टेबल), और राजू डाभी (कांस्टेबल) शामिल हैं. सभी ने अदालत से आग्रह किया कि वे पीड़ितों को मुआवजा देने के लिए तैयार हैं. कोर्ट इसपर विचार करे.

VIDEO: 4 साल की बच्ची को महिला टीचर ने बेरहमी से पीटा, 30 बार जड़े थप्पड़, CCTV में कैद हुई वारदात

'डंडे से पीछे मारना टॉर्चर नहीं...' मुस्लिम युवकों को बांधकर पीटने वाले पुलिसवालों ने गुजरात हाईकोर्ट में दी दलील, मुआवजा देने का प्रस्ताव रखा


पिछले साल का मामला

बता दें कि 4 अक्टूबर, 2022 को खेड़ा जिले के उंधेला गांव में नवरात्रि उत्सव के एक दिन पहले गरबा कार्यक्रम में पथराव करने के आरोप में मुस्लिम पुरुषों को हिरासत में लिया गया था. इस घटना में कम से कम 40 लोगों को गिरफ्तार किया गया था. इसके बाद पुलिस अधिकारियों ने सार्वजनिक रूप से 3 मुस्लिम पुरुषों को खंभे से बांधकर पीछे डंडे मारे थे. लाइव लॉ की रिपोर्ट के मुताबिक, पिछली सुनवाई में अदालत ने राज्य सरकार से पूछा था कि क्या पुलिसकर्मियों को कोई कानून इसकी इजाजत देता है कि किसी भी आरोपी को खंभे से बांधकर पीटा जाए. वहीं कोर्ट ने फिर सोमवार तक के लिए सुनवाई स्थगित कर दी है.

Tags: Gujarat, Gujarat High Court, Gujarat Police, क्राइम

Source link

traffictail
Author: traffictail

Facebook
Twitter
WhatsApp
Reddit
Telegram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

बरेली। पोल पर काम करते संविदा कर्मचारी को लगा करंट, लाइनमैन शेर सिंह की मौके पर ही मौत, घंटो पोल पर लटका रहा शव, परिजनों ने लगाया विभाग पर लापरवाही का आरोप, बिथरी चैनपुर थाना क्षेत्र के एफसीआई गोदाम के पास की घटना, पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भेजा,

सहारा ग्रुप के सहारा प्रमुख सुब्रत रॉय सहारा श्री का मुंबई मे मंगलवार देर रात निधन, लंबे समय से बीमार चल रहे थे सहारा श्री, उनका इलाज मुंबई के एक निजी अस्पताल मे चल रहा था। बुधवार को उनका पार्थिव शरीर लखनऊ के सहारा शहर लाया जायेगा,जहा उन्हे अंतिम श्रद्धांजलि दी जाएगी।

बरेली । आबादी में चला रहे पटाखा व्यापारियों पर प्रशासन का शिकंजा, डीएम रविंद्र कुमार ने प्रतीक शर्मा की शर्मा ट्रेडर्स, रेशमा की मिलन ट्रेडर्स, मुकेश सिंघल की सिंघल फायर ट्रेडर्स, अंकुश पावा की हरदेव ट्रेडर्स और पूर्व विधायक केसर सिंह के बेटे विशाल ट्रेडर्स के थोक के लाइसेंस सस्पेंड कर दिए गए हैं। इज्जत नगर थाना क्षेत्र के 100 फुटा रोड पर थी पटाखा दुकान, पटाखा व्यापारियों में मची खलबली,

Weather Forecast

DELHI WEATHER

पंचांग