June 15, 2024 9:06 pm

देश हित मे......

‘कनाडा का भारत से उलझना, हाथी से चींटी की लड़ाई’, पेंटागन का पूर्व अफसर बोला- US हमेशा दिल्ली के साथ

वाशिंगटन. अमेरिका को साफ लगता है कि कनाडा के पीएम जस्टिन ट्रूडो के आरोपों में अगर सच्चाई है, तो इससे कनाडा को भारत से ज्यादा खतरा है. पेंटागन के एक पूर्व अधिकारी माइकल रुबिन ने कहा कि अगर अमेरिका को कनाडा और भारत के बीच किसी एक को चुनना होगा, तो वह निश्चित रूप से नई दिल्ली को चुनेगा क्योंकि उभरती हुए वैश्विक ताकत भारत के साथ संबंध बहुत महत्वपूर्ण हैं. भारत रणनीतिक रूप से कनाडा से कहीं अधिक महत्वपूर्ण है और ओटावा का भारत के साथ लड़ना ‘एक चींटी का हाथी के खिलाफ लड़ना’ जैसा है. जस्टिन ट्रूडो की खराब अप्रूवल रेटिंग का जिक्र करते हुए रुबिन ने कहा कि वह प्रधानमंत्री के पद पर लंबे समय तक नहीं रहने वाले हैं. उनके हटने के बाद अमेरिका रिश्ते को फिर से सुधार सकता है.

माइकल रुबिन पेंटागन के पूर्व अधिकारी और ईरान, तुर्की और दक्षिण एशिया में अमेरिकन एंटरप्राइज इंस्टीट्यूट स्पेशलाइजेशन में सीनियर फेलो हैं. रुबिन ने कहा कि भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है. यह रणनीतिक रूप से कनाडा की तुलना में कहीं अधिक महत्वपूर्ण है, खासकर जब चीन हिंद और प्रशांत महासागर में अन्य मामलों के संबंध में चिंता बढ़ रही है. गौरतलब है कि कनाडा के पीएम जस्टिन ट्रूडो के खालिस्तानी आतंकवादी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या के पीछे भारत की भूमिका होने का आरोप लगाने के बाद से भारत-कनाडा संबंधों में और खटास आ गई. इसके बाद दोनों देशों ने जैसे को तैसा की कार्रवाई करते हुए एक-एक वरिष्ठ राजनयिक को निष्कासित कर दिया.

बहरहाल भारत ने कनाडा के ऐसे आरोपों को ‘बेतुका’ और ‘प्रेरित’ बताते हुए सिरे से खारिज कर दिया है. विशेष रूप से कनाडाई पीएम ट्रूडो अपने दावों के समर्थन में कोई सबूत पेश करने में विफल रहे हैं. ट्रूडो से आरोपों के बारे में बार-बार पूछा गया, लेकिन वह केवल यही दोहराते रहे कि यह मानने के ‘विश्वसनीय कारण’ थे कि भारत का हाथ निज्जर की मौत से जुड़ा था. इस मसले पर पेंटागन के पूर्व अधिकारी ने ट्रूडो की आलोचना की और कहा कि हरदीप सिंह निज्जर एक खालिस्तानी आतंकवादी था. जो कथित तौर पर अपने पूर्व साथियों द्वारा मारा गया था. मानवाधिकारों के लिए इस्तेमाल करने का यह एक सही मॉडल नहीं है. वह कई हमलों में शामिल आतंकवादी था.

खालिस्तानी आतंकी हरदीप सिंह निज्जर को लेकर बड़ा खुलासा, 1997 में की थी फेक शादी, जानें क्या है कनाडा कनेक्शन?

रुबिन ने कहा कि जस्टिन ट्रूडो शायद इसे मानवाधिकार का मामला बनाना चाहते हैं. इस मामले की सच्चाई यह है कि निज्जर कोई ऐसा इंसान नहीं था, जिसे कोई मानवाधिकारों के लिए इस्तेमाल करना चाहे. ठीक एक साल पहले निज्जर के एक प्रतिद्वंद्वी सिख नेता की हत्या में शामिल होने की आशंका जाहिर की गई थी. कई हमलों के कारण उसके हाथ खून से सने हुए थे. उसने फर्जी पासपोर्ट के साथ कनाडा में प्रवेश किया था. मामले की सच्चाई यह है कि वह कोई मदर टेरेसा नहीं था. उन्होंने कहा कि अमेरिका में सुरक्षा से जुड़े लोग और यहां तक कि कनाडाई सुरक्षा से जुड़े कई लोग समझते हैं कि ट्रूडो इस मामले में हद से ‘बहुत आगे’ चले गए हैं.

Tags: America, Canada, India, Justin Trudeau

Source link

traffictail
Author: traffictail

Facebook
Twitter
WhatsApp
Reddit
Telegram

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

बरेली। पोल पर काम करते संविदा कर्मचारी को लगा करंट, लाइनमैन शेर सिंह की मौके पर ही मौत, घंटो पोल पर लटका रहा शव, परिजनों ने लगाया विभाग पर लापरवाही का आरोप, बिथरी चैनपुर थाना क्षेत्र के एफसीआई गोदाम के पास की घटना, पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भेजा,

सहारा ग्रुप के सहारा प्रमुख सुब्रत रॉय सहारा श्री का मुंबई मे मंगलवार देर रात निधन, लंबे समय से बीमार चल रहे थे सहारा श्री, उनका इलाज मुंबई के एक निजी अस्पताल मे चल रहा था। बुधवार को उनका पार्थिव शरीर लखनऊ के सहारा शहर लाया जायेगा,जहा उन्हे अंतिम श्रद्धांजलि दी जाएगी।

बरेली । आबादी में चला रहे पटाखा व्यापारियों पर प्रशासन का शिकंजा, डीएम रविंद्र कुमार ने प्रतीक शर्मा की शर्मा ट्रेडर्स, रेशमा की मिलन ट्रेडर्स, मुकेश सिंघल की सिंघल फायर ट्रेडर्स, अंकुश पावा की हरदेव ट्रेडर्स और पूर्व विधायक केसर सिंह के बेटे विशाल ट्रेडर्स के थोक के लाइसेंस सस्पेंड कर दिए गए हैं। इज्जत नगर थाना क्षेत्र के 100 फुटा रोड पर थी पटाखा दुकान, पटाखा व्यापारियों में मची खलबली,

Weather Forecast

DELHI WEATHER

पंचांग